सामग्री पर जाएं
Advertisements

नम आँखो से सचिन की विदाई

द ग्रेट सचिन

द ग्रेट सचिन

विश्व क्रिकेट को भारत की सबसे महान देन – सचिन तेंदुलकर ने अपने 24 साल और एक दिन के ओजस्वी करियर के बाद शनिवार को संन्यास ले लिया। वेस्ट इंडीज के खिलाफ वानखेड़े स्टेडियम में खेलते हुए भारतीय टीम ने सचिन को उनके करियर के 200वें टेस्ट में पारी की जीत का शानदार तोहफा और गार्ड ऑफ ऑनर दिया। सचिन ने मैदान से बाहर जाते हुए अपने साथियों और दर्शकों का अभिनंदन स्वीकार किया।

सचिन के संन्यास के साथ ही भारत ही नहीं, बल्कि विश्व क्रिकेट में एक युग का समापन हो गया। एक ऐसा युग, जिसमें इस महान खिलाड़ी ने क्रिकेट के हर रिकॉर्ड को अपनी धरोहर बनाकर रखा और मैदान के बाहर तथा मैदान के अंदर करोड़ों युवाओं के लिए प्रेरणा का स्रोत बने रहे।

द ग्रेट सचिन

द ग्रेट सचिन

वेस्टइंडिज के आखिरी विकेट के गिरते ही खिलाडी पवेलियन की ओर मुडे। सचिन के लिए यह टीम इंडिया के साथ मैदान पर बिताया आखिरी लम्हा था। कानो मे सचिन सचिन की आवाजे और आँखो मे छलके विदाई के गम के आँसो। पत्नी अंजली बेटा अर्जुन भी खुद को संभाल न पाये। सचिन की आँखो मे नमी देख जनता की आँख भी भर ही आयी। अब ये महान खिलाडी शायद कभी मैदान पर न दिखे। इस पल को हर कोइ संजोकर रखना चाहता था।

सचिन ने संन्यास की घोषणा के वक्त अपने संदेश में कहा था, मैंने जीवन में देश के लिए खेलने का सपना पाला था। बीते 24 साल से मैं हर दिन इस सपने को जी रहा हूं। मेरे लिए क्रिकेट के बगैर रहना नामुमकिन सा लगता है, क्योंकि 11 साल की उम्र से मैं इस खेल के साथ रचा-बसा हूं।

सचिन की महानता का सम्मान करते हुए सचिन के आखिरी मैच के खत्म होते ही भारत सरकार ने सचिन को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से नवाजने की घोषणा कर ही दी। सच मे मास्टर ब्लास्टर हकदार है इस भव्य विदाई के जो हर किसी को याद रहेगी। खेल के क्षेत्र मे भारत रत्न पाने वाले सचिन पहले खिलाडी होंगे, साथ ही 40 साल की उम्र मे इस पुरस्कार को पाने वाले सबसे कम उम्र के नागरिक होंगे।

द ग्रेट सचिन

द ग्रेट सचिन

 

भारतीय क्रिकेट के लौहपुरूष मास्टर ब्लास्टर के नाम 69 अन्तर्राष्ट्रिय रिकार्ड दर्ज है। शायद ही कोई दिन आये जब किसी खिलाडी के द्वारा ये रिकार्ड तोड़े जा सके।

सचिन के रिकार्डो पर एक नजरःःः

-सर्वाधिक 200 टेस्ट , सचिन ने अपना पहला टेस्ट 15 नवम्बर, 1989 में पाकिस्तान के खिलाफ कराची में खेला और अंतिम टेस्ट मुम्बई में 14 नवम्बर, 2013 को वेस्टइंडीज के साथ खेला।

-सर्वाधिक 463 एकदिवसीय मैच, सचिन ने अपना पहला एकदिवसीय मैच 18 दिसम्बर, 1989 को पाकिस्तान के खिलाफ गुजरावाला में खेला। अंतिम एकदिवसीय मैच 18 मार्च, 2012 को पाकिस्तान के खिलाफ ढाका में खेला।

-टेस्ट मैचों में सर्वाधिक 15,921 रन, टेस्ट मैचों में सचिन के नाम 68 अर्धशतक और 115 कैच भी दर्ज हैं।

-एकदिवसीट मैचों में सर्वाधिक 18,426 रन, एकदिवससीय मैचों में सचिन के नाम 96 अर्धशतक और 140 कैच हैं।

-टेस्ट मैचों में सर्वाधिक 51 शतक, सचिन का सर्वाधिक व्यक्तिगत योग नाबाद 248 रन है।

-एकदिवसीय मैचों में सर्वाधिक 49 शतक, एकिदवसीय मैचों में सचिन का सर्वाधिक व्यक्तिगत योग नाबाद 200 रन है।

-एकदिवसीय मैच में सबसे पहले 200 रनों का व्यक्तिगत आंकड़ा पार करने वाले बल्लेबाज

-प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में 50,000 रनों का आंकड़ा पार करने वाले पहले भारतीय

-आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में सर्वाधिक छह शतक लगाने वाले बल्लेबाज

-आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में 2000 रनों का आंकड़ा पार करने वाले पहले बल्लेबाज

-एक कैलेंडर वर्ष (1998) में सर्वाधिक 1894 एकदिवसीय रनों का रिकॉर्ड।

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

w

Connecting to %s

%d bloggers like this: