सामग्री पर जाएं
Advertisements

राव इन्द्रजीत सिंह-कांग्रेस राज में भ्रष्ट, पर मोदी राज में स्वच्छ

केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह

केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह

सुशासन, विकास, भ्रष्टाचार और महंगाई जैसे मुद्दो के बलबूते सत्ता की चौखट पर पहुँचे नरेंद्र मोदी अपनी राह से हटते नजर आ रहे है। पहले तो चुनाव के समय अपराधियों को दिये लोकसभा टिकट के नाम पर सवाल उठ रहे थे। लेकिन बात यहाँ तक नहीं रही। संसद मे तो मोदी अपनी लहर में अपराधियों को ले आये, पर ये ना सोचा था कि मंत्रिमंडल का अपराधीकरण भी मोदी राज में हो जायेगा।

बड़े-बड़े बदमाश जहाँ मोदी रथ पर चढ़कर संसद पहुँचे है वहीं घोटालों के दाग से सने नेता भी मोदी लहर में बहकर यहाँ पहुँचे है। मोदी साहब ने वैसे तो छप्पन इंच का सीना फूलाकर कहा तो था कि अपराधियों को संसद से दूर रखा जायेगा। लेकिन अब क्या वो शासक हो चले है, जनता से को वचन थोड़े ही दिया था वो तो वादा था जिसकी कोई अहमियत नहीं है।

मंत्रिमंडल मे शामिल किये गये गुडगाँव के सांसद राव इंद्रजीत सिंह, जो कि इससे पहले कांग्रेस के सांसद थे। यूपीए-1 के समय मोदी के यही रक्षा राज्य मंत्री इसी पद पर काबिज थे। उस समय भाजपा के नेता किरीट सोमैया ने उन पर मुम्बई के कांदिवली भुमि घोटाले मे लिप्त होने का आरोप लगाया था। लेकिन इत्तफाक देखिये 2014 के चुनाव मे यही नेता भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ा और यूपीए-2 मे शामिल ना किये गये राव इंद्रजीत सिंह को मोदी सरकार में फिर से रक्षा राज्य मंत्री बनाया गया है।

किरीट सोमैया अब चुप है पर कांग्रेस हमलावर दिख रही है। कांग्रेस नेता शशि थरूर का कहना है कि यूपीए सरकार मे राव इंद्रजीत सिंह भ्रष्ट थे लेकिन मोदी सरकार मे अब वो भ्रष्ट नहीें रहे। शशि थरूर ने भाजपा के दोहरे मापदण्ड पर प्रहार किया।

किरीट सोमैया तो अब मीडिया से नजरें छुपाए घुम रहे है। नॉर्थ ईस्ट मुंबई से सांसद किरीट सोमैया से जब एक टीवी पत्रकार ने राव इंद्रजीत के मोदी मंत्रिमंडल मे शामिल किये जाने पर सवाल किया तो जनाब कन्नी काट गये। अब क्या करे जिस मोदी लहर में सांसद की पदवी हाथ आयी है, अब उसी मोदी से बैर मोल लेने से तौबा-तौबा कर रहे है।

नरेंद्र मोदी सुशासन और स्वच्छ छवि वाले नेताओं की वकालत करते है, लेकिन उनकी कैबिनेट में कांग्रेस के भ्रष्ट नेता का मौजूद होना कुछ अटपटा सा लगता है। वैसे तो राव इंद्रजीत का कहना है कि सीबीआई मामले की जाँच कर रही थी, जाँच में कोई भी सबूत नहीं मिला और सीबीआई ने मामले को बंद कर दिया है। लेकिन कहते है चोर अपनी चोरी खोद थोड़े ही मानता है। तो क्या पता क्या चक्कर है। वैसे भी सीबीआई का क्या है घर की बात है।

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

w

Connecting to %s

%d bloggers like this: