सामग्री पर जाएं
Advertisements

जज की नियुक्ति पर फ्रि का हंगामा

मद्रास हाईकोर्ट पर संसद मे कोहराम

मद्रास हाईकोर्ट पर संसद मे कोहराम

भारत के राजनेता जो भी करते है वो एक नाटक होता है। सारे भारतवासी इस बात को जानते है कि चुनावी वादों की तरह नेताओ का हर एक्शन प्लान्ड और नपातुला होता है। अब मद्रास हाईकोर्ट मे मनमोहन सरकार मे हुई मद्रास हाईकोर्ट मे एक नियुक्ति पर हंगामा मचा हुआ है। जयललिता की एआइएडीएमके तब विपक्ष मे थी लेकिन अब सत्ता के सिंहासन पर पैर पसारकर बैठी है। अम्मा की पार्टी तब शायद गहरी नींद मे थी लेकिन अब अपने आप को पूरी तरह जगा हुआ दिखाने की कोशिश कर रही है।

इनकम टैक्स में हेरफेर के मामले में जब अम्मा पर किचड़ उछलती है तो पार्लियामेंट मे कोई हंगामा तो नहीं होता। पर एक रिटायर्ड जज जस्टिस काटजु के बयान पर संसद का माहौल खूब गरमागरम हो रखा है। लोकल कोर्ट से गलत तरीके से प्रमोट करके एक जज की नियुक्ति हाईकोर्ट मे करने वाले बयान को स्पष्ट साक्ष्य घोषित करने की कोशिश कर रहे अम्मा के सांसद बड़ी पैनी अदाकारी कर रहे है।

जुडिशियल अकाउंटेबेलिटी बिल (न्यायिक जवाबदेही कानून) के तहत यूपीए सरकार की जबरदस्ती शुरू की गयी सुधार यात्रा को रफ्तार देने की कोशिश करने के बजाय गढ़े मुर्दे उखाड़ने मे ज्यादा दिलचस्पी है अम्मा के चमचों की। जजो की नियुक्ति तो क्या सीबीआई से लेकर आईबी और हर जवाबदेह पद पर नियुक्ति का कॉपीराइट संविधान ने केन्द्र सरकार को ही दे रखा है। लेकिन सवाल ये उठता है कि जो सरकार जनता के प्रति जवाबदेह नहीं होती है, उसके जरिए तैनात लोग किस तरह सरकार मे बैठे राजनीतिक दल या फिर गठबंधन अलावा किसी के लिए भी जवाबदेह हो सकते है।

राज्यपाल का पद ही ले लिजिए, जिस राजनीतिक दल की सरकार मंत्री भी उसके और जो दिग्गज नेता मंत्री नहीं बन पाये वो राज्यपाल बन जाते है। यहाँ तक कि प्रधानमंत्री पर निगरानी करने की बजाय राष्ट्रपति भी उसे इस पद तक पहुँचाने वाले राजनीतिक आकाओ की खुशामत करते है।

ऊपर से नीचे, चपरासी से राष्ट्रपति तक जहाँ सरकार मे बैठे राजनीतिक दल की चलती हो वहाँ बिना बात के जनता का टाइम बर्बाद करने वाले ये नेता होते कौन है। या तो सिस्टम को संसद के जरिए बदल के दिखाओ वरना ये फ्रि का हंगामा करने से अच्छा है संसद को सब्जी मंडी बना दो, इसी बहाने आप का शोर भी हो जायेगा और आपको आसमान छुती सब्जियों का भाव भी पता लगता रहेगा।

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

w

Connecting to %s

%d bloggers like this: