सामग्री पर जाएं
Advertisements

श्रीदेवी का ‘सदमा’ – बाल कलाकार से बेमिसाल सुपरस्टार तक

25 फरवरी 2018 की तारीख को याद रखा जाएगा। सुबह सुबह आदतन जैसे ही लोगों ने अपना फोन देखा तो सब चौंक गए वेब पोर्टल और सोशल मीडिया के जरिए खबरें आई कि सुपरस्टार श्रीदेवी की मौत हो गई है।

DW1WALNW4AAqip0

दुबई में अपने भतीजे मोहित मारवाह की शादी में शामिल होने पहुंची श्रीदेवी को दिल का दौरा पड़ा और वो दुनिया को अलविदा कह कर चली गई। मौका खुशी का था लेकिन जब दुबई से श्रीदेवी की मौत की खबर आई तो पूरा देश शोक में डूब गया। हर किसी के लिए चौंकाने वाली खबर थी कि श्रीदेवी यानि वो चांदनी, हवा हवाई, रूप की रानी अब नहीं रही।

श्रीदेवी ने कई सुपरहिट फिल्में दी और उनकी आखिर फिल्म ज़ीरो अभी रिलीज़ नहीं हुई है। इससे पहले मॉम फिल्म में श्रीदेवी अंतिम बार पड़े पर्दे पर दिखी थी। इंग्लिश विंग्लिश से श्रीदेवी ने कई साल बाद फिल्मों में कमबैक किया था हालांकि फिल्म को वो हिट नहीं मिला जो उनकी फिल्मों को मिलता रहा था।

पूरा नाम और रिश्तों की डोर-

श्रीदेवी का पूरा नाम श्री अम्मा यंगर अयप्पन है और तमिलनाडु के शिवकाशी जिले में 13 अगस्त 1963 को उनका जन्म हुआ था। उनके पिता तमिल थे और उनकी मां तेलगु जो कि तिरूपति, आंध्र प्रदेश से ताल्लूक रखती थी। पिता वकील थे और श्रीदेवी की एक बहन और 2 सौतेले भाई है। 1996 में तलाकशुदा बोनी कपूर से श्रीदेवी ने शादी की और उनकी दो बेटी है जाह्नवी कपूर और खुशी कपूर। अभिनेता अर्जुन कपूर श्रीदेवी के सौतेले बेटे हैं और अनिल कपूर उनके देवर हैं।

7715692

चाइल्ड आर्टिस्ट के तौर पर फिल्मों में एंट्री (फोटो-गूगल इमेज)

बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट 4 साल की उम्र में फिल्मों में डेब्यू-

एक्टिंग की शौकिन श्रीदेवी ने बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट तमिल फिल्म थुनैवन से फिल्मी डेब्यू किया था। इस फिल्म में बेबी श्रीदेवी भगवान मुरूगन के तौर पर दिखाईं दी थी। इसके बाद वो कई फिल्मों में आईं, किसी फिल्म में बतौर लड़की तो किसी फिल्म में लड़का बनीं। कहा जाता है टिनेज तक भी बेबी श्रीदेवी के तौर पर जाना जाता था। बॉलीवुड में भी बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट ही वो फिल्म जूली में पहली बार दिखाई दी।

naino-mein-sapna-modern-make-over_660_020813064126

फिल्म हिम्मतवाला के गाने नैनों में सजना का सीन (फोटो-गूगल इमेज)

सोलहवां सावन से बॉलीवुड में सुपर दस्तक-

1976 में तमिल फिल्म मोंडरू मुडिचु में पहली बार श्रीदेवी लीड रोल में नज़र आईं। लेकिन उन्हें हिन्दी फिल्मों में पहला ब्रेक सोलहवां सावन फिल्म से मिला। फिल्म हिम्मतवाला के कई गाने आज भी गुनगुनाए जाते हैं। जितेंद्र के साथ  इस फिल्म से श्रीदेवी को शोहरत मिलनी शुरू हुई। 1983 में आई फिल्म हिम्मतवाला के गाने ताकी रे ताकी और नैनों में सजना तो सुपरस्टार जितेंद्र का सिग्नेचर सांग माने जाते हैं।

images

फिल्म मिस्टर इंडिया का सीन (फोटो-गूगल इमेज)

सुनहरे बीस साल और बुलंदियों तक का सफर-

जी हां हिम्मतवाला से जो ब्रेक मिला वो अागे बढ़ता चला गया। 1986 में आई नगीना फिल्म तो सबको याद ही होगी कैसे नागिन इच्छाधारी बनकर तांत्रिक से बदला लेती है। उसके बाद 1987 में आई मिस्टर इंडिया फिल्म को आज भी बच्चों की पसंदीदा फिल्म माना जाता है कैसे अनिल कपूर एक डिवाइस से गायब हो जाते हैं और इन सबके बीच सुपरहिट सांग हवा हवाई। यह गाना श्रीदेवी का ट्रेड मार्क बन गया था। हाल में आई विद्याबालन की फिल्म तुम्हारी सुलू में गाने का रिमेक वर्ज़न भी आया। 1989 में आई चांदनी ने उनको और भी बड़ा सुपरस्टार बना दिया। चांदनी ओ मेरी चांदनी गाना तो आज भी गुनगुनाया जाता है।

अस्सी की दशक की सदमा, चालबाज़ फिल्में भी श्रीदेवी की चर्चित फिल्में थी। लेकिन श्रीदेवी का असली दौर था नब्बे का दशक, कहा जाता है कि इस दशक में वो सुपरस्टार बनी और कई फिल्मों में उनकी फीस अपने फिल्म के हीरो से भी ज्यादा होती थी।  1991 में आई लम्हें, चुड़ियां खनक गई हाथ में और मेघा रे मेघा गाना इस फिल्म के सुपरहिट गाने थे। 1992 में खुदा गवाह में अमिताभ बच्चन के साथ जोरदार एक्टिंग दिखाई। इस फिल्म में श्रीदेवी का डबल रोल था जिसमें वो अमिताभ बच्चन की पत्नी और बेटी दोनों बनी हैं। 1993 में आई रूप की रानी चोरों का राजा भी श्रीदेवी की यादगार फिल्म थी।

13favourite-sridevi-scenes9

फिल्म लाडला की गुस्सैल श्रीदेवी (फोटो-गूगल इमेज)

1994 मेें लाडला फिल्म मेें श्रीदेवी का अलग ही रूप देखने को मिला। गुस्से से भरी कंपनी की मालिक और मां का ला़डला मजदूर कैसे पति पत्नी बनते हैं और फिर दोनों लास्ट में एक साथ अनिल कपूर के घर में ही रहने लगते हैं। 1997 में जुदाई फिल्म भी श्रीदेवी का अलग रूप लेकर आई लालची पत्नी कैसे अपने ही पति को उसे प्यार करने वाली लड़की को बेच देती है क्योंकि उसका सरकारी नौकर पति उसके शौक पूरे नहीं कर पाता।

Actress-Sridevi-is-the-poster-from-the-Bollywood-movie-English-Vinglish

इंग्लिश विंग्लिश से बड़े पर्दे पर ‘चांदनी’ की वापसी-

श्रीदेवी यानि रूप की रानी, किसी के हाथ नहीं आएगी वो लड़की यानि एक चुलबुल श्रीदेवी की उम्र ढ़ली तो उन्होंने अपने आप को भी फिल्मों में नए रोल में ढ़ाल लिया। पति प्रोड्यूसर हैं लेकिन श्रीदेवी को फिल्म का ऑफर किसी ओर प्रोड्यूसर से आया। फिल्म में श्रीदेवी के अलावा कोई जाना पहचाना चेहरा नहीं था जिस वजह से फिल्म को देखा तो गया लेकिन टीवी पर ज्यादा और सिनेमाहालों में कम। फिल्म के गाने फेमस हुए जिसमें वेडिंग सांग नवराई मांझी और स्लो ट्रैक सांग धाक धुक गाना हालांकि काफी चर्चित हुआ।

download

श्रीदेवी की सिनेमाघरों में देखी गई आखिरी फिल्म मॉम थी जो कि रेप और उसके बाद न्याय की लड़ाई पर बनी थी जिसमें दिखाया गया कैसे मां अपनी बेटी के साथ हुए अन्याय का बदला सिस्टम से हारने के बावजूद लेती है।

फिल्म ज़ीरो में आखिरी रोल-

किंग खान की अपकमिंग फिल्म जीरों में श्रीदेवी मरने के बाद भी बड़े पर्दे पर नज़र आएंगी। फिल्म में शाहरूख, कटरीना और अनुष्का शर्मा मुख्य किरदार में होंगे। हालांकि टाइम्स ऑफ इंडिया की वेबसाइट के मुताबिक फिल्म में श्रीदेवी का स्पेशल एपियरेंस होगा जिसमें वो एक पार्टी में शाहरूख, आलिया भट्ट और करिश्मा कपूर के साथ दिखाई देंगी।

==============================================================

एक दिन दुनिया छोड़कर हर किसी को जाना है लेकिन फिल्मों सितारों का जाना उनकी कई यादों को हमारे सामने ला खड़ा कर देता है। उनकी फिल्में, उनके सुपरहिट गानें और उनके यादगार डॉयलॉग। साथ में उनसे जुड़े विवाद भी सामने आते हैं लेकिन यही ज़िंदगी है।

 

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: