सामग्री पर जाएं
Advertisements

दिल्ली की SSC क्रांति- मोदी राज में सड़कों पर युवा

दिल्ली में स्टाफ सेलेक्शन कमीशन के दफ्तर के बाहर परीक्षा में धांधली को लेकर प्रदर्शन किया जा रहा है। 6 दिन से पढ़े लिखे और होनहार युवा अपने भविष्य की लड़ाई लड़ रहे हैं। सरकारी नौकरी पाने की इच्छा में एसएससी का पेपर तो दिया लेकिन पेपर लीक होने से छात्रों में गहरी नाराजगी है। और वो एसएससी दफ्तर के बाहर दिख भी रही है।

 

दरअसल हाल ही में हुई कंबाइंड ग्रेजुएट लेवल (Tier-II) परीक्षा के पेपर लीक होने की CBI जांच की मांग कर रहे हैं। परीक्षा 17 फरवरी 2018 से 22 फरवरी 2018 तक पांच दिन में हुई, पेपर ऑनलाइल था और लेकिन परीक्षा के बाद खबरें आई कि टॉयलेट में पेपर की लीक कॉपी मिली हैं। पहले तो एसएससी ने इस खबर को नकार दिया और कहा कि पेपर ऑनलाइन लिए गए पेपर से अलग है। लेकिन जब छात्र दिल्ली में एसएससी दफ्तर के बाहर धरने पर बैठ गए तो पेपर को टेक्निकल वजह बताते हुए रद्द कर दिया गया है।

छात्रों के मुताबिक ऑनलाइन परीक्षा के पेपर का लीक होना बगैर एसएससी अधिकारियों की मिलीभगत के मुमकिन नहीं है और इसीलिए मामले की CBI जांच हो और आरोपी SSC कर्मचारी या अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

DXSR_RxVoAAx3xD

SSC दफ्तर के बाहर प्रदर्शनकारी (फोटो-ट्वीटर)

छह दिन पहले शुरू हुए इस धरने प्रदर्शन को देश भर से समर्थन मिल रहा है। सोशल मीडिया के जरिए SSC की तैयारी में जुटे युवा इस आंदोलन के बारे में सुन रहे हैं और वो भी दिल्ली में चल रहे प्रदर्शन में शामिल होने पहुंच रहे हैं।

सोशल मीडिया पर एसएससी के इन छात्रों के लिए बड़ी हमदर्दी दिखाई जा रही है। होली पर भी प्रदर्शनकारी छात्र एसएससी दफ्तर के बाहर डटे रहे, घर वालों के साथ होली मनाने की जगह अपने भविष्य के सुनहरे रंगों की आस में छात्र अभी भी डटे हुए है। रात में सैकडों छात्र सड़कों पर सो रहे है और मांगों को मनवाने के लिए दिन रात प्रदर्शन कर रहे हैं।

 

हालांकि प्रदर्शनकारियों के प्रति सहानुभूति तो सही है लेकिन कहानी कुछ और भी हो एसएससी के चेयरमैन की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि प्रदर्शन 2 कोचिंग सेंटर या एजेंसी की चाल है और किसी मकसद से ये प्रदर्शन किया जा रहा है। हालांकि फिर भी एसएससी के चेयरमेन से 28 फरवरी को छात्रों को मिलने के लिए बुलाया गया था।

ssc

SSC चेयरमेन का बयान 28-02-2018

यानि खेल इतना साफ भी नहीं है जितना लग रहा है लेकिन फिर भी सीबीआई जांच करवा लेने में एसएससी को हर्ज क्यों है? 1 मार्च को छात्र केंद्रीय कार्मिक मंत्री जितेंद्र सिंह से भी मिले जहां मंत्री की ओर से जारी आदेश में कहा गया कि पेपर रद्द किया जाए और अगर छात्रों के पास सबूत है तो उसकी जांच सीबीआई से कराई जाए या फिर दिल्ली पुलिस क्राइम सेल इस जांच का जिम्मा संभाले।

मीटिंग के बाद एसएससी ने छात्रों के दिए सबूतों को अपर्याप्त बताया और सबूत देने को कहा गया इस बीच होली आई और मीडिया में मामला गर्मा गया।

होली के बाद यानि 3 मार्च को नेताओं का जमघट लगना शुरू हुआ और पहले मनोज तिवारी, फिर कांग्रेस सांसद दीपक हुड्डा और आज पप्पु यादव भी छात्रों के बीच पहुंचे। दीपक हुड़्डा ने मामले को संसद में उठाने का भरोसा दिया। फिंर समाजसेवी अन्ना भी आंदोलन में पहुंचे और छात्रों की मांगों का समर्थन किया। मनोज तिवारी आज छात्रों को लेकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह के घर पर पहुंचे जिसके बाद एसएससी के चेयरमेन के साथ फिर से बैठक हुई।

 

 

बैठक के बाद एसएससी के चेयरमेन की ओर से जारी बयान में कहा गया कि कार्मिक मंत्रालय से सीबीआई जांच की सिफारिश कर दी गई है और सभी सबूत जिनमें लीक पेपर के स्क्रीन शॉट्स भी शामिल है सीबीआई को सौंप दिए जाएंगे।

ssc1

SSC चेयरमेन का बयान 04-03-2018

हालांकि सीबीआई जांच की सिफारिश के बाद भी प्रदर्शकारी एसएससी दफ्तर के बाहर डटे हुए हैं और सीबीआई जांच शुरू होने तक आंदोलन करने पर अड़े हुए है।

कहानी क्या है कुछ कहा नहीं जा सकता लेकिन जैसा कि हाल में 2016 की परीक्षा के बाद नियुक्तियों में हुई देरी पर भी सवाल उठाए गए थे इससे साफ है कि कहीं ना कहीं सिस्टम में गड़बड़ तो है। लेकिन जिस स्तर पर मामले को तूल दिया जा रहा है वो भी गौर करने लायक है कि कही केंद्र की मोदी सरकार को बदनाम करने के लिए अफवाहें तो नहीं फैलाई जा रही हैं। जो भी हो अब जांच सीबीआई करेगी और अगर कोई एसएससी अधिकारी दोषी हुआ तो उसके खिलाफ कार्रवाई भी हो सकती है।

Advertisements

2 टिप्पणियाँ »

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: