सामग्री पर जाएं
Advertisements

राजनीति का उपवास कांड-पीएम मोदी से कांग्रेस के ‘छोले भटूरों’ तक

जी हां इस वक्त भारतीय राजनीति में उपवास कांड चल रहा है हर कोई उपवास करने की होड़ में शामिल हो रहा है। राहुल गांधी का उपवास अभी विवादों में सुर्खिया बटोर ही रहा था कि प्रधानमंत्री मोदी ने भी उपवास का ऐलान कर दिया।

प्रधानमंत्री मोदी का उपवास आज विपक्ष के खिलाफ होगा। संसद में विपक्ष के अलग अलग दल के हंगामे की वजह से बजट सत्र का दूसरे हिस्से में बहुत कम काम हो पाया था। बैंक घोटाला पर कांग्रेस और पूरा यूपीए गठबंधन, टीएमसी,बीएसपी,एसपी जैसे कई दल सरकार के खिलाफ लामबंद थे तो दक्षिण से भी हाल ही में बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए गठबंधन से अलग होने के बाद टीडीपी भी आंध्र प्रदेश को विशष राज्य का दर्जा देने के मुद्दे पर सत्ता पक्ष पर हमलावर थी तो कावेरी जल विवाद के मुद्दे पर बीजेपी की ही सहयोगी एआईएडीएमके भी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले हुए थी।

हालांकि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री के उपवास पर तंज कसा और कहा ‘पीएम मोदी अपने ही खिलाफ एक दिन का उपवास करेंगे ये बहुत प्यारी बात है’।

कांग्रेस पीएम मोदी के उपवास पर ट्वीटर के जरिए पोल करा रही है जिसमें पूछा गया है ‘क्या मोदी सरकार के संसद नहीं चला पाने की नाकामी छुपाने के लिए पीएम मोदी अपने ही खिलाफ उपवास और प्रदर्शन करेंगे’।

प्रधानमंत्री और बीजेपी ने उपवास का ऐलान ऐसे वक्त में किया जब कांग्रेस का दलितों पर हो रहे अत्याचार को लेकर दिल्ली में हुए उपवास को लेकर विवाद सुर्खियों में है। सोमवार को उपवास पर बैठे राहुल गांधी की पार्टी नेताओं ने ही किरकिरी करा दी। दिल्ली में राजघाट पर पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में उपवास का मुख्य कार्यक्रम था। लेकिन इससे पहले राजधानी के बड़े कांग्रेसी नेताओं के एक रेस्तरां में छोले-भटूरे का लुत्फ लेते फोटो वायरल हो गए। उपवास पर बैठने से पहले कांग्रेस नेताओं-अजय माकन, हारून यूसुफ और अरविंदर सिंह लवली व अन्य ने एक रेस्तरां में छोले-भटूरे खाते दिखे।

फोटो सोशल मीडिया में वायरल हुआ तो लवली ने सफाई दी। इससे और किरकिरी हो गई। लवली ने कहा, फोटो सुबह आठ बजे की है। पार्टी ने सांकेतिक उपवास के लिए 10.30 से शाम 4.30 बजे तक का वक्त तय किया था। यह कोई अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल नहीं थी।’

सोशल मीडिया पर राहुल गांधी के उपवास का खूब मजाक उड़ा और अब तो जहां दिल्ली कांग्रेस के नेता छोले भटूरे खाने गए थे वो दुकान भी फेमस हो गई है।पुरानी दिल्ली में जहां पर कांग्रेसी नेता छोले-भटूरे खाते हुए कैमरे में कैद हुए, उसका नाम है चैना राम की दुकान। चैना राम की मिठाई की दुकान चांदनी चौक में फतेहपुरी मस्जिद से सटी दुकान है।

एक ट्विटर यूज़र ने चैना राम हलवाई की दुकान पर नवभारत टाइम्स अखबार का कटआउट शेयर किया और साथ ही लिखा कि कांग्रेस नेताओं ने छोले भटूरे नहीं छोले पूड़ी खाए थे क्योंकि छोले भटूरे सुबह उस दुकान पर बनते ही नहीं है।

तो आप समझ गए होंगे कि उपवास के नाम पर 2019 में जनता से वोट पाने की पूरी कोशिश की जा रही है। उपवास वैसे तो ईश्वर से कुछ मांगने के लिए रखा जाता है लेकिन यहां जनता से वोट मांगने के लिए रखा जा रहा है तो आप भी आनंद लीजिए सियासी दलों के उपवास कांड का और चैना राम को भी याद रखिएगा वक्त निकालकर दिल्ली पहुंच जाइएगा।

फिचर फोटो- ट्विवटर @HarishKhuranna

सभी लिंक- ट्विटर

Advertisements

1 टिप्पणी »

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

w

Connecting to %s

%d bloggers like this: