सामग्री पर जाएं
Advertisements

आंदोलनों के बड़े होने से पहले ही बड़ा कदम उठाती है बीजेपी सरकार – अन्ना से लेकर एसएससी और महाराष्ट्र किसान क्रांति तक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके नेतृत्व वाली एनडीए सरकार की भले ही कितनी भी आलोचना कर ली जाए, लेकिन कई मामलों में तारीफ करे बिना नहीं रहा जा सकता है। महंगाई पर फेल, भ्रष्टाचार पर विफल, रोजगार सिर्फ मेहनतियों को.. और भी बहुत कुछ है जो इस सरकार की नाकामी है। लेकिन पिछले एक साल में बड़े बड़े आंदोलन हुए हैं।

  • दिल्ली में एसएससी प्रतियोगी युवाओं का आंदोलन, कई दिनों तक छात्र परिक्षा में हुई धांधली और नकल के खिलाफ डटे रहे हालांकि एसएससी इस मामले को देख रही थी। पहले पेपर लीक होने की बात ही नहीं मानी और छात्रों पर ही कोचिंग सेंटरों से पैसे लेकर प्रदर्शन करने की बात कही। लेकिन जब बच्चे होली बनाने भी घर नहीं गए तो बात बढ़ गई और मीडिया में मामला उछला तो सरकार का ध्यान आंदोलन पर गया। जैसा कि उस समय मीडिया रिपोर्टस में कहा गया कि बीजेपी के सांसद मनोज तिवारी और मीनाक्षी लेखी ने पूरे मामले में मध्यक्षता की थी और जिसके बाद आंदोलनकारियों की मुलाकात केंद्रीय कार्मिक मंत्री से हुई और फिर एसएससी को एग्जाम रद्द करना पड़ा और मामले की जांच भी शुरू की गई।

dxmnpdlw0aa5fyp

  • महाराष्ट्र में किसानों के आंदोलन की बात करें तो.. ‘जो दिखता है वो होता नहीं है’ वाली कहावत यहां पर सटीक बैठेगी हालांकि यकीन किसी का नहीं किया जा सकता। नासिक से पैदल चलकर हजारों किसान मुंबई अपनी मांगे लेकर पहुंचे थे।मांग मान भी ली गई वो भी पहली ही मुलाकात में, राजनीति बहुत हुई और सबने अपनी रोटी सेंकने के लिए किसानों के गुस्से की आग का इस्तेमाल भी किया। लेकिन इस बीच महाराष्ट्र के एक मंत्री का बयान भी मीडिया रिपोर्टस में था जिसमें वो कह रहे हैं कि नासिक में ही सरकार मांगे मानने के लिए तैयार थी लेकिन आंदोलन को लीड कर रहे संगठनों ने कहा कि मार्च तो जाएगा ही। इस आंदोलन को लेफ्ट का समर्थन था और हो सकता है इसी वजह से ये मार्च दिल्ली तक आया और इस आंदोलन को लेकर महाराष्ट्र और केंद्र की सरकारों की आलोचना भी हुई। हालांकि किसानों ने मुंबई के लोगों को परेशानी ना हो इसलिए रातभर चलकर शिवाजी मैदान तक सफर तय किया था।
DYD9ADXXkAI_2Nr

फोटो साभार – ट्वीटर

  • कठुआ और उन्नाव रेप केस के बाद हुआ आंदोलन भी इस लाइन में बड़ा आंदोलन था, दिल्ली से लेकर मुंबई और पूरे देश में कठुआ में बच्ची से रेप की घटना पर गुस्सा था वहीं मामले में हिंदुवादी संगठनों का आरोपियों का पक्ष लेना पर भी रोष पैदा हो गया था। उन्नाव मेें बीजेपी विधायक पर रेप का आरोप और यूपी पुलिस का गिरफ्तारी ना करना और फिर सीबीआई का आना, फिर आखिरकार हाईकोर्ट के आदेश पर गिरफ्तारी होना। इस सबके बीच बीजेपी की संजीदगी सवालों के घेरे में आ गई। हालांकि कुछ ही दिनों के अंदर ही सरकार बच्चों से यौन अपराध के खिलाफ कड़ा अध्यादेश ले आई और बाकी रेप के मामलों में भी सजा कड़ी कर दी गई। हालांकि यहां भी सरकार की काफी आलोचना हुई और सरकार को काफी शर्मिंदगी भी झेलनी पड़ी।

inc

  • अन्ना आंदोलन पार्ट टू भी इस लाइन में बड़ा आंदोलन हो सकता था लेकिन समय रहते महाराष्ट्र सरकार ने मध्यस्तता की। साल 2011 में यूपीए सरकार के समय हुए ताबड़तोड़ घोटालों के खुलासों और चरम पर पहुंच चुके ब्यूरोकेसी के भ्रष्टाचार से जनता ऊब चुकी थी तभी अन्ना का जनलोकपाल आंदोलन हुआ। 2013 में कानून भी बन गया लेकिन मामला अटक गया लोकपाल की नियुक्ति प्रक्रिया पर, नियम के मुताबिक इसमें नेता विपक्ष की जरूरत होती है। जरूरी सीटें ना होने पर कांग्रेस को ये पद नहीं मिला जो लोकसभा में बीजेपी के बाद दूसरा सबसे बड़ा दल है मामला सुप्रीम कोर्ट में भी लंबित है। सरकार ने भी कोशिश की तो लेकिन सब फेल रही हैं। अन्ना दोबारा आंदोलन पर बैठ गए लेकिन जल्द ही उनका आंदोलन खत्म हो गया, सरकार ने अन्ना को आश्वासन दिया कि लोकपाल की नियुक्ति जल्द कर ली जाएगी साथ ही किसानों से जु़ड़ी मांगों को भी मान लिया। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने खुद अन्ना हजारे का उपवास खत्म कराया।

Anna_Hazare_on_Fast_unto_Death

  • सीबीएसई के पेपर लीक होने के बाद छात्रों का आंदोलन भी हुआ, सरकार ने संज्ञान भी लिया। बात देश के सबसे बड़े शिक्षा बोर्ड की साख पर आ गई थी। पेपर लीक को लेकर बहुत तेज जांच की गई और जल्द ही आरोपियों को पकड़ लिया गया। बारहवीं कक्षा का अर्थशास्त्र का पेपर फिर से कराया गया वहीं दसवीं का गणित का पेपर भी दोबारा करने की बात हो रही थी लेकिन बाद में रद्द कर दिया गया।

 

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

w

Connecting to %s

%d bloggers like this: