सामग्री पर जाएं
Advertisements

नरेंद्र मोदी पर हावी हो रही जनता की राय: जनसंपर्क से पहले महंगाई, भ्रष्टाचार से संपर्क की ज़रूरत

H2018060447904

The Prime Minister, Shri Narendra Modi addressing the opening session of the 49th Governors’ Conference, at Rashtrapati Bhavan, in New Delhi on June 04, 2018.

कांग्रेस का कार्यकाल घोटालों से भरा था। टूजी में देश ने लाखों करोड़ गवाएं तो कॉमनवेल्थ गेम्स में भी खूब लूट-खसोट हुई और देश की इज़्ज़त भी निलाम हो गई।

लेकिन अब क्या देश में कुछ गलत नहीं हो रहा है।

नहीं, महंगाई से जनता परेशान, मोदी सरकार के भयंकर प्रयोगो को जनता खुशी-खुशी झेला ताकि अच्छे दिन आएं। कई लोग नोटबंदी के शिकार हुए, कुछ जीएसटी की भेंट चढ़ गए लेकिन उम्मीद कायम थी कि पूर्ण बहुमत की सरकार वाले मोदी जी कुछ तो देश का भला करेंगे।

हालांकि देश का बुरा अभी तक कुछ नहीं हुआ लेकिन मीडिया में रोज आती खबरों से ये बात भी झूठी लगती है। सेना के जवानों को अपनी वर्दी खुद लेनी पड़ रही है, राफेल डील पर भी सीएजी जांच की खबर है और कई आरोप रोज कांग्रेस पार्टी (जो खुद जैसे दूध की धुली है) सरकार पर लगाती है।

H2018053147529

दूसरी ओर किसान भी अब मोदी जी से नाराज़ होते दिख रहे हैं क्योंकि उत्तर प्रदेश के कैराना, नूरपुर उपचुनावों में बीजेपी की हार के पीछे गन्ना किसानों की नाराज़गी भी एक बड़ी वजह मानी जा रही है। गन्ना कब का बिक गया, चीनी भी बन गई लेकिन सरकारी मिलों से पैसा किसानों तक नहीं पहुंच पाया है।

वैसे कई लोगों ने बीजेपी से बहुत ज़्यादा ही उम्मीद कर ली थी। मोदी जी ने भी सपने जबरदस्त ही दिखाए थे, बुलेट ट्रेन, महंगाई से मुक्ति, किसानों की इनकम दोगुनी करना, हर गरीब को घर देना और सबसे बड़ा बीजेपी का ट्रेड मार्क वादे राम मंदिर निर्माण और कश्मीर से धारा 370 को हटाना।

राम मंदिर पर अयोध्या के साधु-संत ही बीजेपी को चेतावनी दे रहे हैं, राम मंदिर नहीं बनने पर 2019 में बीजेपी के खिलाफ प्रचार करने की बात कर रहे हैं।

H2018060247819

वहीं, जम्मू-कश्मीर पर भी मोदी सरकार की नाकामी जग-जाहिर है। सुरक्षाबलों पर पत्थरबाज हावी हैं, आतंकवादियों की तो फैक्ट्री बन गई है वहां, साथ में आयात-निर्यात भी बड़े स्तर पर हो रहा है। दूसरी ओर एलओसी के पास भी अशांत माहौल है, पाकिस्तान ने जैसे सीज़फायर का मज़ाक बना दिया है।

नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में भी सरकार विफल रही है, बातें बड़ी-बड़ी की गई लेकिन जवानों की जानें अभी भी जा रही हैं।

महंगाई के तो कहने की ही क्या हैं, पेट्रोल ने जैसे आम जनता के बीच सरकारी विरोधी आग लगा दी है। वहीं, आने वाले दिनों में वही हर साल जैसा टमाटर-प्याज के दामों का कहर भी जा रहेगा।

सरकारी बैंकों के कर्मचारी त्रस्त हैं, एक तो सरकार की योजनाओं का बोझ, आधार बनवाने का काम भी इन्हीं के पास लेकिन जब इंक्रीमेंट का टाइम आया तो सरकारी बैंकों के प्रबंधन ने 2% सैलरी बढ़ाने का ऑफर दिया।

बेरोज़गारी भी आउट-ऑफ-कंट्रोल है। देश में सरकारी नौकरियों का भी अकाल पड गया है। पद खाली पड़े लेकिन अच्छे-दिन वाली सरकार कुछ नहीं कर रही है। प्राइवेट सेक्टर में कर्मचारियों का उत्पीड़न भी नहीं रुका है और सरकार भी आराम से उद्योगपतियों को मनमानी करन दे रही है। देश में जितना बड़ा उद्योगपति है उतना ही उसकी कंपनी में कर्मचारियों का दोहन हो रहा है। श्रम-कानून का तो जैसे मज़ाक ही बनाया जा रहा है।

गुस्सा चरम पर है बीजेपी शायद अपने वोटबैंक के सहारे जीत के सुनहरे सपने भी देख रही है। जिस पूर्ण बहुमत वाली बीजेपी को प्रचंड बहुमत की तरह बढ़ना चाहिए था वह सिलसिलेवार उप-चुनाव हारने के बाद अल्पमत होने के करीब पहुंच चुकी है। वहीं, 2019 में बिना गठबंधन के सरकार बनाना मुश्किल होता जा रहा है क्योंकि विपक्ष की एकता की वजह से बीजेपी पहले ही यूपी के गोरखपुर, फूलपुर जैसे हाई-प्रोफाइल सीटों हार चुकी है। तभी तो अब गठबंधन के सहयोगियों को मनाने की कोशिश की जा रही है।

हालांकि मोदी सरकार और राज्यों की बीजेपी सरकारों ने बहुत अच्छे काम भी किए हैं लेकिन चुनावी समय में ऐसे काम जनता को शायद ही दिखें। हालांकि समीकरण 2014 वाले ही होंगे लेकिन विपक्षी दलों के एकजुट होने से वोट बंट नहीं पाएगा और बीजेपी को बड़ा नुकसान होने की पूरी गारंटी है।

एक साल में हो सकता है नरेंद्र मोदी कुछ सरप्राइज़ दें और जनता को अपने पक्ष में कर भी सकते हैं। वहीं, विपक्ष की एकजुटता भी कब तक होगी यह भी कहा नहीं जा सकता क्योंकि जो हाल बिहार में महागठबंधन (जेडीयू, आरजेडी और कांग्रेस गठबंधन) का हुआ, शायद 2019 से पहले बाकी दल भी बीजेपी की साइड में आ जाएं।

 

 

 

 

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: